मीडिया सेंटर मीडिया सेंटर

नेपाल सरकार के विदेश एवं गृह मंत्री की आधिकारिक यात्रा के अवसर पर जारी किया गया संयुक्‍त प्रेस वक्‍तव्‍य (14-16 जनवरी 2014)

जनवरी 16, 2014

  1. नेपाल सरकार के विदेश एवं गृह मंत्री माननीय श्री माधव प्रसाद घिमिरे ने भारत सरकार के विदेश मंत्री माननीय श्री सलमान खुर्शीद के निमंत्रण पर 14 से 16 जनवरी 2014 तक भारत का अ‍ाधिकारिक दौरा किया।
  2. अपनी यात्रा के दौरान माननीय श्री घिमिरे ने भारत के महामहिम प्रधान मंत्री डा. मनमोहन सिंह से मुलाकात की। उन्‍होंने भारत के विदेश मंत्री महामहिम श्री सलमान खुर्शीद तथा गृह मंत्री महामहिम श्री सुशील कुमार शिंदे के साथ बैठक की। राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार माननीय श्री शिवशंकर मेनन तथा विदेश सचिव माननीय श्रीमती सुजाता सिंह ने भी नेपाल के माननीय मंत्री से मुलाकात की।
  3. भारत के महामहिम प्रधान मंत्री डा. मनमोहन सिंह से मुलाकात के दौरान, दोनों पक्षों ने आपसी हित के अनेक मामलों पर विचारों का आदान - प्रदान किया। प्रधान मंत्री डा. मनमोहन सिंह ने संविधान सभा के चुनावों की सफल समाप्ति पर नेपाल की सरकार एवं नेपाल के लोगों को बधाई दी तथा कहा कि भारत नेपाल की इच्‍छा के अनुसार किसी भी ढंग से नेपाल के साथ सहयोग करने के लिए तैयार है। माननीय श्री घिमिरे ने जल्‍दी से जल्‍दी नेपाल की आधिकारिक यात्रा करने के लिए भारत के माननीय प्रधान मंत्री को मंत्री परिषद के अध्‍यक्ष की ओर से निमंत्रण दिया। माननीय प्रधान मंत्री जी ने इस निमंत्रण को सहर्ष स्‍वीकार कर लिया। सामान्‍य राजनयिक चैनलों के माध्‍यम से यात्रा की तिथियां तय की जाएंगी।
  4. माननीय श्री घिमिरे तथा माननीय श्री सलमान खुर्शीद ने 15 जनवरी 2014 को नई दिल्‍ली स्थित हैदराबाद हाउस में द्विपक्षीय बैठक की। माननीय विदेश मंत्री ने नेपाल के माननीय विदेश मंत्री का गर्मजोशी से स्‍वागत किया तथा कहा कि उनकी इस यात्रा से दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों को और सुदृढ़ करने में सहायता प्राप्‍त होगी। यह बैठक अत्‍यधिक सौहार्दपूर्ण एवं मैत्रीपूर्ण वातावरण में हुई। माननीय श्री सलमान खुर्शीद ने माननीय श्री घिमिरे एवं उनके शिष्‍टमंडल के सम्‍मान में एक लंच का भी आयोजन किया।
  5. दोनों विदेश मंत्रियों ने द्विपक्षीय संबंधों की वर्तमान स्थिति तथा अनेक क्षेत्रों में परस्‍पर सहयोग की समीक्षा की और दोनों देशों के बीच वि‍द्यमान संबंधों की उत्‍कृष्‍ट स्थिति पर प्रसन्‍नता व्‍यक्‍त की। वे दोनों देशों के लोगों के जीवन स्‍तर में सुधार के लिए तथा कल्‍याण को बढ़ावा देने के लिए परस्‍पर सहयोग को नई गति प्रदान करने पर सहमत हुए।
  6. दोनों विदेश मंत्रियों ने विभिन्‍न क्षेत्रों में परस्‍पर लाभप्रद सहयोग का पता लगाने एवं बढ़ावा देने के लिए दोनों देशों के बीच सभी विद्यमान तंत्रों, जिसमें संयुक्‍त आयोग भी शामिल है, को फिर से सक्रिय एवं जीवंत बनाने पर अपने विचारों का आदान - प्रदान किया। इस बात पर जोर दिया गया कि संयुक्‍त आयोग की बैठक जल्‍दी से जल्‍दी होनी चाहिए तथा इसके पश्‍चात यह बैठक नियमित आधार पर होनी चाहिए। दोनों पक्षों ने सहयोग के विभिन्‍न क्षेत्रों में दोनों देशों के बीच निष्‍पादित सभी करारों एवं समझौता ज्ञापनों के कारगर एवं समय पर कार्यान्‍वयन की आवश्‍यकता को भी रेखांकित किया।
  7. माननीय श्री सलमान खुर्शीद की 9 जुलाई 2013 को नेपाल की आधिकारिक यात्रा को याद करते हुए, नेपाल के विदेश मंत्री माननीय श्री घिमिरे ने कहा कि इस यात्रा से दोनों देशों के बीच परस्‍पर समझ एवं सहयोग के क्षेत्र विस्‍तृत एवं सुदृढ़ हुए हैं। दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए कि दो घनिष्‍ठ पड़ोसियों के बीच उच्‍च स्‍तर पर यात्राओं के अक्‍सर आदान - प्रदान से द्विपक्षीय संबंध और मजबूत होंगे।
  8. नेपाल के माननीय विदेश मंत्री ने पिछले साल नवंबर में संविधान सभा के सफल चुनाव के बाद नेपाल में नवीनतम राजनीतिक स्थिति का संक्षिप्‍त ब्‍यौरा प्रस्‍तुत किया तथा इस संबंध में नेपाल को प्रदान किए गए नैतिक एवं वस्‍तुगत सहायता के लिए भारत सरकार का आभार व्‍यक्‍त किया। उन्‍होंने कहा कि स्‍वतंत्र, निष्‍पक्ष एवं विश्‍वसनीय ढंग से चुनाव आयोजित किए गए, जिसमें रिकार्ड संख्‍या में मतदाताओं ने भाग लिए। उन्‍होंने यह भी कहा कि सभी चुनाव परिणामों की घोषणा तथा औपचारिकताओं के पूरा हो जाने पर संविधान सभा का पहला सत्र 22 जनवरी 2014 को बुलाया गया है। भारत के माननीय विदेश मंत्री ने चुनाव प्रक्रिया सफलता के साथ पूरा करने के लिए नेपाल के लोगों एवं नेपाल की सरकार को बधाई दी तथा उम्‍मीद व्‍यक्‍त की कि नवगठित संविधान सभा निर्धारित समय सीमा के अंदर संविधान का निर्माण करने में समर्थ होगी। उन्‍होंने यह भी कहा कि संविधान स्‍थापित हो जाने पर नेपाल में स्‍थाई शांति, स्थिरता एवं समृद्धि आएगी, जिसके माध्‍यम से नेपाल के लोगों की चिर प्रतीक्षित आकांक्षाएं पूरी हो सकेंगी। उन्‍होंने शांतिपूर्ण, स्थिर एवं खुशहाल नेपाल के लिए भारत के मजबूत एवं सतत समर्थन को दोहराया तथा इन महत्‍वपूर्ण उद्देश्‍यों को साकार करने में नेपाल की सहायता करने के लिए भारत की तत्‍परता व्‍यक्‍त की।
  9. दोनों विदेश मंत्रियों ने परस्‍पर लाभप्रद आर्थिक विकास एवं संपोषणीय वि‍कास को बढ़ावा देने के लिए द्विपक्षीय व्‍यापार एवं निवेश को और बढ़ाने की आवश्‍यकता पर जोर दिया, जो गरीबी उन्‍मूलन, भुखमरी दूर करने तथा पिछड़ेपन की समस्‍या दूर करने के लिए आवश्‍यक है। दोनों पक्षों ने भारत के साथ नेपाल के बढ़ते व्‍यापार घाटे की समस्‍या को दूर करने के लिए समाधान ढूंढ़ने की आवश्‍यकता पर जोर दिया तथा जल विद्युत क्षेत्र समेत नेपाल की अर्थव्‍यवस्‍था के उत्‍पादक क्षेत्रों में भारतीय निवेश के महत्‍व को रेखांकित किया। इस संदर्भ में, दोनों पक्षों ने 21 - 22 दिसंबर 2013 को काठमांडू में आयोजित वाणिज्‍य सचिव स्‍तर पर अनधिकृत व्‍यापार को नियंत्रित करने के लिए व्‍यापार, पारगमन एवं सहयोग पर अंतर सरकारी समिति (आई जी सी) की हाल की बैठक के दौरान हुई सहमति की भी सराहना की।
  10. नेपाल के माननीय विदेश मंत्री ने जल्‍दी से जल्‍दी नेपाल की आधिकारिक यात्रा करने के लिए भारत के माननीय विदेश मंत्री को निमंत्रण दिया। माननीय विदेश मंत्री ने इस निमंत्रण के लिए उनका धन्‍यवाद किया तथा इसे सहर्ष स्‍वीकार कर लिया। सामान्‍य राजनयिक चैनलों के माध्‍यम से यात्रा की तिथियां तय की जाएंगी।
  11. नेपाल के माननीय विदेश मंत्री, जो गृह मंत्री भी हैं, ने भारत के गृह मंत्री माननीय श्री सुशील कुमार शिंदे के साथ बैठक की तथा आपसी हित के मुद्दों पर विचारों का आदान - प्रदान किया। इस बैठक के दौरान दोनों पक्षों ने सीमापारीय अपराधों, दवाओं की तस्‍करी, मानव तस्‍करी तथा आतंकवाद की महामारी के विरूद्ध लड़ाई में अपनी सुरक्षा एजेंसियों के बीच सहयोग बढ़ाने पर विचारों का आदान - प्रदान किया। उन्‍होंने विभिन्‍न अवसरों पर दोनों देशों के नेताओं की बैठकों के दौरान निष्‍पादित करारों एवं समझौता ज्ञापनों के कार्यान्‍वयन के लिए भी अपनी प्रतिबद्धता व्‍यक्‍त की।
नई दिल्‍ली
जनवरी 16, 2014


Comments
टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code