मीडिया सेंटर

करारों / एम ओ यू की सूची जिन पर श्रीलंका के राष्‍ट्रपति की भारत की राजकीय यात्रा के दौरान हस्‍ताक्षर किए गए (16 फरवरी, 2015)

फरवरी 16, 2015

करारों / एम ओ यू की सूची जिन पर श्रीलंका के राष्‍ट्रपति की भारत की राजकीय यात्रा के दौरान भारत और श्रीलंका के बीच हस्‍ताक्षर किए गए (16 फरवरी, 2015)

क्र.सं.
करार / एम ओ यू ब्‍यौरा / कार्य क्षेत्र भारत की ओर से हस्‍ताक्षरकर्ता श्रीलंका की ओर से हस्‍ताक्षरकर्ता
1

परमाणु ऊर्जा के शांतिपूर्ण प्रयोगों में सहयोग के लिए भारत और श्रीलंका के बीच करार

यह करार परमाणु ऊर्जा के शांतिपूर्ण प्रयोगों में ज्ञान एवं विशेषज्ञता के आदान - प्रदान एवं अंतरण, संसाधनों की साझेदारी, कार्मिकों के क्षमता निर्माण एवं प्रशिक्षण में सहयोग को संभव बनाएगा जिसमें रेडियो आइसोटोप्‍स का प्रयोग, परमाणु सुरक्षा, विकिरण सुरक्षा, परमाणु संरक्षा, रेडियोधर्मी अपशिष्‍ट का प्रबंधन तथा परमाणु एवं रेडियोधर्मी आपदा उपशमन और पर्यावरण संरक्षण शामिल है।

श्री रतन कुमार सिन्‍हा, सचिव, परमाणु ऊर्जा विभाग

 

विद्युत एवं ऊर्जा मंत्री माननीय पटालि चंपिका रनवाका

 

 

2

वर्ष 2015 - 18 के लिए भारत और श्रीलंका के बीच सांस्‍कृतिक सहयोग कार्यक्रम

वर्ष 2015 - 18 के लिए सांस्‍कृतिक सहयोग कार्यक्रम विविध प्रकार के क्षेत्रों जैसे कि अभिनय कला, दृश्‍य कला, पुस्‍तकालय, संग्रहालय, अभिलेखागार एवं सांस्‍कृतिक प्रदर्शन, पुरातत्‍व विज्ञान, हस्‍तशिल्‍प, प्रकाशन एवं व्‍यावसायिक आदान - प्रदान में सहयोग के स्‍तर को बढ़ाना चाहता है।

श्री रवींद्र सिंह, सचिव, संस्‍कृति मंत्रालय

महामहिम सुदर्शन सेनविरत्‍ने, नई दिल्‍ली में श्रीलंका के उच्‍चायुक्‍त

3

नालंदा विश्‍वविद्यालय की स्‍थापना के लिए एम ओ यू

यह एम ओ यू नालंदा विश्‍वविद्यालय परियोजना में श्रीलंका की भागीदारी को संभव बनाएगा।

डा. एस जयशंकर, विदेश सचिव

सुश्री चित्रांगनी वागिस्‍वारा, विदेश सचिव


4

भारत और श्रीलंका के बीच कृषि के क्षेत्र में सहयोग के लिए एम ओ यू के तहत कार्य योजना 2014-2015

यह कार्य योजना दोनों देशों की संगत संस्‍थाओं एवं संगठनों के बीच कृषि प्रसंस्‍करण, कृषि विस्‍तार, बागवानी, कृषि मशीनरी, कृषि यंत्रीकरण में प्रशिक्षण, पशुओं की बीमारियों आदि में द्विपक्षीय सहयोग को संभव बनाएगी।

श्री आशीष बहुगुणा, सचिव, कृषि एवं सहकारिता विभाग

महामहिम सुदर्शन सेनविरत्‍ने, नई दिल्‍ली में श्रीलंका के उच्‍चायुक्‍त

Write a Comment एक टिप्पणी लिखें
टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * पुष्टि संख्या