प्रलेख प्रलेख

नए आयाम नयी दिशाएं अभिनव कूटनीति के दो वर्ष

जून 22, 2016

हमारी कूटनीति की नई सीमाओं और नए आयाम की रुपरेखा की खोज ने पिछले दो वर्षों में भारत की विदेश नीति को परिभसित किया है । यह समय केबल इतनी बड़ी संख्या में राष्ट्रों के साथ हमारे आदान - प्रदान के स्तर और गति की द्रष्टि से ही नहीं, बल्कि देश की प्रगति के रास्तो में ठोस उपलब्धियों को प्रदान करने के भारतीय कूटनीति के अथक प्रयासो के लिहाज से भी असाधारण था ।...[ नए आयाम नयी दिशाएं अभिनव कूटनीति के दो वर्ष ई-बुक के लिए यहां क्लिक करें ]


पेज की प्रतिक्रिया

टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code
केन्द्र बिन्दु में
यह भी देखें