प्रलेख प्रलेख

पथप्रवर्तक कूटनीति

जून 23, 2016

विगत दो वर्षों में भारत के कद में सतत उत्‍थान जहां विश्‍व इस देश को वैश्विक कार्यसूची को आकार प्रदान करने हेतु एक भिन्‍न भूमिका के साथ प्रभावी सत्‍ता के रूप में एक नए देश की तरह देख रहा है.............[ पथप्रवर्तक कूटनीति ई-बुक के लिए यहां क्लिक करें ]


टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code
केन्द्र बिन्दु में
यह भी देखें