यात्रायें यात्रायें

सऊदी अरब के विदेश राज्य मंत्री का भारत दौरा (11 मार्च, 2019)

मार्च 11, 2019

सऊदी अरब के विदेश मामलों के राज्य मंत्री, महामहिम अदेल बिन अहमद अल जुबैर ने पिछले महीने 11 मार्च 2019 को अपने रॉयल हाईनेस सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस की यात्रा के बाद भारत के आधिकारिक दौरे पर आये।

सऊदी अरब के विदेश मामलों के राज्य मंत्री महामहिम श्री अदेल बिन अहमद अल जुबैर ने आज प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। श्री अल जुबैर ने महामहिम राजा सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ अल सउद और रॉयल हाईनेस क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की ओर से प्रधानमंत्री को शुभकामनाएं दीं। प्रधानमंत्री ने भी उन्हें अपनी हार्दिक शुभकामनाएं दीं। प्रधानमंत्री ने अपने सभी रूपों और अभिव्यक्तियों में आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत के साथ पूर्ण एकजुटता व्यक्त करने के लिए सऊदी अरब के नेतृत्व को धन्यवाद दिया। इस बात पर सहमति बनी कि सऊदी अरब और भारत को बिना किसी भेदभाव के सभी आतंकवादियों के खिलाफ अपरिवर्तनीय, सत्यापित और विश्वसनीय कदम उठाने के लिए मिलकर कार्य करना चाहिए।

महामहिम श्री अदेल बिन अहमद अल जुबैर ने फरवरी 2019 में सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस की ऐतिहासिक यात्रा के परिणामों के बारे में प्रधानमंत्री को जानकारी दी। दोनों देशों ने व्यापार और निवेश को बढ़ावा देने और भारत में सऊदी अरब द्वारा 100 बिलियन अमेरिकी डॉलर के निवेश को प्राप्त करने हेतु महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं, जिसकी घोषणा क्राउन प्रिंस की यात्रा के दौरान की गई थी।

इसके बाद, मंत्री अल जुबैर ने विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज के साथ द्विपक्षीय संबंधों के संपूर्ण विस्तार पर बैठक की और चर्चा की। उन्होंने रॉयल हाईनेस की भारत यात्रा के बाद महत्वपूर्ण विकास पर ध्यान केन्द्रित किया। विदेश मंत्री ने दोहराया कि आतंक के खतरे से लड़ने के लिए आतंक के बुनियादी ढांचे को खत्म करने हेतु एक अपरिवर्तनीय और सत्यापित कार्रवाई आवश्यक है। इस पर रणनीतिक साझेदारी परिषद की जल्द से जल्द स्थापना करने पर सहमति हुई। सऊदी की ओर से हज कोटा 2,00,000 तक बढ़ाने और 850 भारतीय कैदियों को शाही क्षमा दिए जाने के संकेत की काफी सराहना की गई।

भारत और सऊदी अरब ऐतिहासिक, सांस्कृतिक, धार्मिक और आर्थिक संबंधों के आधार पर जोशपूर्ण, करीबी और बहुआयामी संबंधों से जुड़े हुए हैं, जो व्यापक सामरिक भागीदारी हेतु महत्वपूर्ण हैं। सऊदी अरब भारत का चौथा सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार है और हमारी कच्चे तेल की जरूरतों का दूसरा सबसे बड़ा आपूर्तिकर्ता है।

नई दिल्ली
मार्च 11, 2019



Page Feedback

टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code
यह भी देखें