मीडिया सेंटर मीडिया सेंटर

'मानवता के लिए भारत' परियोजना के लिए विदेश मंत्रालय और भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति के बीच समझौता

अगस्त 05, 2020

उनकी 150 वीं जयंती समारोह के अवसर पर, विदेश मंत्रालय ने 9 अक्टूबर 2018 को 'मानवता के लिए भारत' पहल की शुरूआत की। इस पहल ने महात्मा गांधी के मानवता के प्रति दया, देखभाल और सेवा के दर्शन पर ध्यान केंद्रित किया। इस पहल के तहत 12 देशों में 13 कृत्रिम अंग फिटमेंट कैंप आयोजित किए गए और 6500 से अधिक कृत्रिम अंग लगाए गए। ये शिविर पूरी तरह से विदेश मंत्रालय द्वारा प्रायोजित थे और प्रसिद्ध धर्मार्थ संगठन "भगवान महावीर विकास सहयोग समिति" (BMVSS) द्वारा कार्यान्वित किए गए थे।

2. इन शिविरों ने उन देशों में भारत के प्रति बहुत सद्भावना पैदा की जहाँ ये आयोजित किए गए थे जैसे मलावी, इराक, नेपाल, मिस्र, बांग्लादेश, इथियोपिया, सीरिया आदि। इन शिविरों का उद्देश्य विश्व के छिन्नांग जनों को समाज के आत्मसम्मानित तथा उपयोगी सदस्य बनने के लिए अपनी गतिशीलता तथा प्रतिष्ठा को पुन: प्राप्त करने में सहायता करके शारीरिक, आर्थिक तथा सामाजिक पुनर्वासन का लक्ष्य हासिल करने में उनकी मदद करना है। भारत अपनी विकास साझेदारी के तहत मानवीय सहायता प्रदान कर रहा है जो कि वसुधैव कुटुम्बकम के मूल मंत्र से व्युत्पन्न हुई है।

3. इस संदर्भ में, 5 अगस्त 2020 को, विदेश मंत्रालय और "भगवान महावीर विकास सहयोग समिति" (BMVSS) के बीच समझौते को 3 साल के लिए यानि मार्च 2023 तक के लिए बढ़ा दिया गया है। श्री राहुल छाबड़ा, सचिव (ईआर), ने विदेश मंत्रालय की ओर से समझौते पर हस्ताक्षर किए जबकि श्री सतीश मेहता ने "भगवान महावीर विकास सहयोग समिति" (BMVSS) की ओर से हस्ताक्षर किए।

नई दिल्ली
अगस्त 05, 2020
टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code