मीडिया सेंटर मीडिया सेंटर

प्रश्न संख्‍या 2013 भारत में आने-जाने में पेश आ रही समस्याएं

अगस्त 05, 2021

राज्यसभा
अतारांकित प्रश्न संख्‍या 2013
दिनांक 05.08.2021 को उत्तर देने के लिए

भारत में आने-जाने में पेश आ रही समस्याएं

2013. डा. वी. शिवादासन:

क्या विदेश मंत्री यह बताने की कृपा करेंगे कि :

(क) क्या सरकार को भारत में आने-जाने में भारतीय नागरिकों को पेश आ रही समस्याओं की जानकारी है;

(ख) क्या सरकार द्वारा भारत में आने-जाने वाले लोगों की मदद करने के लिए कोई विशिष्ट कदम उठाए गए हैं, तत्संबंधी ब्यौरा क्या है; और

(ग) क्या उन लोगों को टेस्टिंग (जांच) संबंधी नयाचार में कोई राहत दी गई है जिन्हें दो बार टीके लगे हैं, तत्संबंधी ब्यौरा क्या है?

उत्तर
विदेश राज्य मंत्री
(श्री वी. मुरलीधरन)

(क) और (ख) कोविड-19 महामारी के कारण, सामान्य अंतरराष्ट्रीय यात्रा सेवाएं स्थगित हैं। भारत में और भारत से अंतर्राष्ट्रीय हवाई यात्रा विशेष व्यवस्थाओं द्वारा हो रही हैं, जिसमें एयर बबल और वंदे भारत मिशन शामिल है। अंतरराष्ट्रीय यात्रा के लिए अलग-अलग देशों में भिन्न-भिन्न प्रोतोकॉल होता है, यह उन देशों में उत्पन्न महामारी की स्थिति पर निर्भर करता है। कुछ देशों ने भारतीय नागरिकों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है। इन देशों ने भी कुछ श्रेणियों के लिए प्रतिबंध से छूट का प्रावधान किया है। हालाँकि, वर्तमान में, अधिकांश देशों में भारतीय नागरिकों की यात्रा पर प्रतिबंध नहीं है, लेकिन अन्य देश-विशिष्ट कोविड प्रोतोकॉल के अनुपालन के साथ-साथ एक नेगेटिव कोविड -19 रिपोर्ट की आवश्यकता होती है।सरकार ने कोविड की स्थिति के आधार पर भारत में प्रवेश के लिए कोविड परीक्षण और संगरोध आवश्यकताओं के संबंध में समय-समय पर दिशा-निर्देश भी जारी किए हैं।

सरकार ने कोविड -19 महामारी के दौरान विदेशों से फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए वंदे भारत मिशन शुरू किया था। विभिन्न देशों के साथ एयर बबल करार भी संपादित किए गए हैं। वैक्सीन प्रमाणपत्रों की मान्यता के संबंध में, यद्यपि कोविड–19 टीकाकरण प्रमाणपत्र के संबंध में अंतरराष्ट्रीय नागर विमानन संगठन (आईसीएओ) के ढांचे के तहत बहुपक्षीय आधार पर चर्चा की गई है। इस संबंध में अभी तक कोई बहुपक्षीय व्यवस्था नहीं हुई है। भारत चल रही इन चर्चाओं में भाग लेता रहा है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि भारत में बनी वैक्सीन किसी भी बहुपक्षीय व्यवस्था में विधिवत स्वीकार्य हों। इसी बीच भारत टीकाकरण प्रमाणपत्र को पारस्परिक मान्यता देने के लिए अन्य देशों के साथ भी संपर्क बनाए हुए है।

(ग) अंतरराष्ट्रीय आगमन के संबंध में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी  दिशानिर्देश https://www.mohfw.gov.in/pdf/Guidelinesforinternationalarrivals17022021.pdf लिंक पर उपलब्ध हैं।

***

Comments
टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code


संसदीय प्रश्न एवं उत्तर
यह भी देखें