मीडिया सेंटर मीडिया सेंटर

प्रश्न संख्‍या 2015 भारत की टीका संबंधी कूटनीति

अगस्त 05, 2021

राज्यसभा
अतारांकित प्रश्न संख्‍या 2015
दिनांक 05.08.2021 को उत्तर देने के लिए

भारत की टीका संबंधी कूटनीति

2015. डॉ. विकास महात्मे:

क्या विदेश मंत्री यह बताने की कृपा करेंगे कि :

(क) क्या भारत की टीका संबंधी कूटनीति चीन के आर्थिक वैश्वीकरण का सामना कर सकती है और इस महामारी के दौरान भारत को एक विश्व गुरू के रूप में दर्शा सकती है;

(ख) क्या मंत्रालय इसे मजबूत द्विपक्षीय और वैश्विक संबंध बनाने हेतु दीर्घकालिक योजना तैयार करने के अवसर के रूप में पाता है क्योंकि भारत की टीका संबंधी कूटनीति न केवल लाखों लोगों की जान बचाएगी, बल्कि यह वैश्विक इतिहास की किताबों में एक कीर्तिमान भी बनाएगी; और

(ग) यदि हां, तो इसके संभावित कूटनीतिक परिणाम क्या हैं?

उत्तर
विदेश राज्य मंत्री
(श्री वी. मुरलीधरन)

(क) से (ग) कोविड टीकाकरण को बढ़ावा देना मानवता की सेवा है और इसमें हमारा सार्वजनिक कल्‍याण निहित है। यह देशों के मध्‍य प्रतिस्पर्धा का मुद्दा नहीं है। वर्तमान में चल रही विश्‍वव्‍यापी महामारी के दौरान, देशों ने अलग-अलग समय पर चिकित्सा आपूर्ति दी है और ली है। भारत इस अंतरराष्ट्रीय सहयोग का एक महत्वपूर्ण हिस्सा रहा है, जो वास्तव में वसुधैव कुटुम्बकम के सदियों पुराने लोकाचार को दर्शाता है।

***

Comments
टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code


संसदीय प्रश्न एवं उत्तर
यह भी देखें