हमारे बारे में हमारे बारे में

श्री वी. मुरलीधरन

श्री वी. मुरलीधरनश्री वी. मुरलीधरन: 12 दिसंबर 1958 को केरल के कन्नूर जिले में श्री गोपालन वेन्नाथन वित्तिल और श्रीमती देवकी नाम्बल्ली वेल्लम वेल्ली के यहां जन्मे श्री वी. मुरलीधरन को 30 मई 2019 को भारत के राष्ट्रपति ने केंद्रीय राज्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई।

श्री वी. मुरलीधरन ने आधिकारिक रूप में केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री और संसदीय मामले के राज्यमंत्री के रूप में 31 मई 2019 को कार्यभार संभाला।

प्रारंभिक कैरियर

श्री मुरलीधरन ने केरल के थालास्सेरी के गवर्नमेंट ब्रेनन कॉलेज से अंग्रेजी भाषा और साहित्य में स्नातक करने के बाद सामाजिक-राजनीतिक मामलों में एक कार्यकर्ता के रूप में अपनी यात्रा आरंभ की, इसने उनके अनुभव को काफी समृद्ध किया। 1999 से लेकर 2002 तक वे भारत सरकार के युवा मामले और खेल मंत्रालय के अधीन नेहरू युवा केंद्र के उपाध्यक्ष और बाद में 2002 से लेकर 2004 तक नेहरू युवा केंद्र के महानिदेशक जैसे विभिन्न पदों पर रहे।

राजनीतिक कैरियर

अप्रैल 2018 में श्री मुरलीधरन महाराष्ट्र से राज्यसभा के सदस्य चुने गए। जून 2018 में उन्हें विदेश मामलों की स्थायी समिति के सदस्य के रूप में मनोनीत किया गया था। जून 2018 में ही उन्हें रेल मंत्रालय के सलाहकार समिति के सदस्य के रूप में भी नियुक्त किया गया था। इसके बाद दिसंबर 2018 में उन्हें नियमों से संबंधित समिति के सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया।

श्री मुरलीधरन का विवाह डॉ. के. एस. जयश्री से हुआ है।