यात्रायें यात्रायें

राष्ट्रपति की ऑस्ट्रेलिया की राजकीय यात्रा (21 से 24 नवम्बर, 2018)

नवम्बर 24, 2018

1. कॉमनवेल्थ ऑस्ट्रेलिया के गवर्नर जनरल श्री पीटर कॉसग्रोव के आमन्त्रण पर, भारतीय गणतंत्र के राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद 21 से 24 नवम्बर तक ऑस्ट्रेलिया कॉमनवेल्थ के दौरे पर रहे। किसी भारतीय राष्ट्रपति की यह ऑस्ट्रेलिया की पहली यात्रा थी। राष्ट्रपति कोविंद के साथ कौशल विकास एवं उद्यमिता राज्यमंत्री श्री अनंत कुमार हेगड़े, संसद के सदस्य और भारत सरकार के वरिष्ठ अधिकारीगण भी थे।

2. 21 नवम्बर को सिडनी में, राष्ट्रपति कोविंद ने ANZAC स्मारक में सैनिकों को श्रधांजलि अर्पित की जिन्होंने प्रथम विश्व युद्ध में अपने प्राणों की आहुति दी। उसी शाम को, उन्होंने सिडनी में भारतीय समुदाय को संबोधित भी किया। ऑस्ट्रेलिया में करीब आधी मिलियन आबादी भारतीयों की है जबकि 80 हजार भारतीय विद्यार्थी यहाँ के विभिन्न शिक्षण संस्थानों में शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं।

3. ​गवर्नर जनरल कॉसग्रोव के आधिकारिक आवास, एडमायरेलिटी हाउस, में राष्ट्रपति कोविंद का भव्य स्वागत किया गया, जिसके बाद एक बैठक भी आयोजित की गयी। राष्ट्रपति के सम्मान में गवर्नर जनरल ने दोपहर भोज का भी आयोजन किया। ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री श्री स्कॉट मोरिसन ने शिष्टाचार का पालन करते हुए 22 नवम्बर 2018 को राष्ट्रपति को फ़ोन किया।

4. ​ ऑस्ट्रलियाई नेताओं के साथ अपनी चर्चा के दौरान, राष्ट्रपति ने दोनों देशों के बीच के करीबी और सौहार्द्रपूर्ण संबंधों पर प्रकाश डाला और अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान किया। उन्होंने दोनों देशों के बीच के संबंधों और लम्बी दोस्ती तथा लोगों के लोगों से संबंध को और मजबूत बनाने की भारत की प्रतिबद्धता के बारे में फिर से याद दिलाया। दोनों देशों के बीच के आर्थिक सहयोग में बढ़ोतरी के बारे में ध्यान आकृष्ट करते हुए, राष्ट्रपति ने आर्थिक संबंधों को और सुदृढ़ बनाने पर बल दिया, विशेषकर निवेश के मोर्चे पर। राष्ट्रपति ने अगले चार वर्षो में, भारत-ऑस्ट्रेलिया कूटनीतिक शोध कोष के लिए 10 मिलियन डॉलर की अतिरिक्त सहायता प्रदान करने के भारत के निर्णय के बारे में भी बताया।

5. ​ नेताओं ने दोनों देशों के बीच होने वाले नियमित संपर्क को लेकर संतुष्टि जताई, जिसके कारण दोनों देशों के संबंधों को नया आयाम और ऊर्जा प्राप्त हो सकी। ऑस्ट्रेलियाई नेतृत्व ने ऑस्ट्रेलिया के राष्ट्रीय विकास में भारत द्वारा सकारात्मक भूमिका निभाये जाने की भी सराहना की।

6. महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर चल रहे कार्यक्रमों के तहत, राष्ट्रपति ने न्यू साऊथ वेल्स के परामट्टा में महात्मा गांधी की प्रतिमा का अनावरण किया और भारी संख्या में वहां मौजूद भारतीय प्रवासियों तथा स्थानीय समुदाय के लोगों को संबोधित भी किया। इस कार्यक्रम में प्रधानमन्त्री स्कॉट मोरिसन और परामट्टा के महापौर भी मौजूद रहे। दोनों ही नेताओं ने महात्मा गांधी के विचारों को आज भी प्रासंगिक बताया, खासकर भारत-ऑस्ट्रेलिया के रिश्तों के सन्दर्भ में।

7. ​ राष्ट्रपति ने दोनों देशों के आर्थिक संबंधों पर ऑस्ट्रेलियाई वित्तीय समीक्षा को लेकर आहूत इंडिया बिजनेस समिट 2018 को संबोधित किया। समारोह में दोनों देशों के बिजनेस प्रमुख, ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री मारिस पायने तथा न्यू साउथ वेल्स के अधिकारी और नेतागण शामिल हुए। अपने संबोधन में, राष्ट्रपति ने नए भारत में अवसरों के बारे में बताया और ऑस्ट्रेलिया के निवेशकों तथा करोबारियों से और प्रगाढ़ संबंध बनाने की अपील की। राष्ट्रपति ने अपने संबोधन में, ऑस्ट्रलिया की कंपनियों को भारत के फिन टेक और सैन्य सेवाओं, औद्योगिक डिज़ाइन, पूँजी बाजार, कृषि उद्योग तथा बायोटेक की विकास गाथा में भागीदार बनने का न्योता दिया। उन्होंने "इंडिया इकोनॉमिक स्ट्रेटेजी टू 2035” का स्वागत किया।

8. ​ ऑस्ट्रेलिया की स्पेस एजेंसी के सृजन का स्वागत करते हुए, राष्ट्रपति ने सुझाव दिया कि अंतरिक्ष के क्षेत्र में भारत के लम्बे अनुभव का लाभ उठाकर दोनों देश अन्तरिक्ष में भी सहयोग कर सकते हैं।

9. ​प्रधानमंत्री मोरिसन ने अपने संबोधन में, "इंडिया इकोनोमिक स्ट्रेटेजी 2035” के मुख्य सुझावों को सामने रखा और 2035 तक भारत में निवेश को मौजूदा स्तर 10 बिलियन डॉलर से बढ़ाकर 100 बिलियन डॉलर तक करने के लिए रिपोर्ट में दी गयी अनुशंसाओं को स्वीकार किया और शिक्षा, पर्यटन, संसाधन तथा कृषि व्यापार क्षेत्र में संबंधों को और मजबूत बनाने पर जोर दिया।

10. ​राष्ट्रपति ने ऑस्ट्रलिया-भारत बिजनेस काउंसिल (AIBC) के वार्षिक रात्रि भोज को भी सुशोभित किया और एआईबीसी के सदस्यों को संबोधित किया। इस दौरान ऑस्ट्रेलिया की विदेश मंत्री सुश्री मारिस पायने तथा न्यू साउथ वेल्स की प्रमुख सुश्री ग्लेडिस बेरेजिकलियन भी मौजूद रहीं

11. मेलबोर्न में, 23 नवम्बर को, गवर्नर ऑफ़ विक्टोरिया सुश्री लिंडा देस्सु ने राष्ट्रपति कोविंद के सम्मान में दोपहर भोज का आयोजन किया। विक्टोरिया ने बड़ी संख्या में भारतीय प्रवासियों और विद्यार्थियों की मेजबानी भी की। विपक्ष के नेता श्री बिल शोर्टन ने राष्ट्रपति से भेंट की । बाद में, राष्ट्रपति ने मेलबोर्न यूनिवर्सिटी में विद्यार्थियों को "ज्ञान साझीदार के रूप में ऑस्ट्रेलिया-भारत” पर भाषण दिया।

12. यात्रा के दौरान, पांच सहमति पत्रों (MoU) का आदान-प्रदान भी किया गया। इनमें शामिल हैं – (i) दिव्यांगों के सशक्तिकरण से सम्बंधित विभाग, भारत तथा दिव्यान्गों के सहयोग को लेकर सामाजिक सेवा विभाग, ऑस्ट्रेलिया के बीच सहमति पत्र; (ii) द्विपक्षीय निवेश को बढ़ावा देने के लिए निवेश भारत तथा ऑसट्रेड के बीच सहमति पत्र; (iii) केन्द्रीय खदान योजना एवं डिज़ाइन इंस्टिट्यूट लिमिटेड (CMPDI), भारत और कॉमनवेल्थ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च आर्गेनाईजेशन (CSIRO),के बीच विज्ञान के क्षेत्र में सहयोग बढाने के लिए एम्ओयू; (iv) कृषि शोध एवं तकनीक के क्षेत्र में सहयोग के लिए आंध्र प्रदेश, गुंटूर, के आचार्य एन.जी. रंगा कृषि यूनिवर्सिटी तथा यूनिवर्सिटी ऑफ़ वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के बीच एम्ओयू; (v) क्वीन्सलैंड यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी (QUT) तथा इन्द्रप्रस्थ इंस्टिट्यूट ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी, दिल्ली (IIITD) के बीच संयुक्त पीएचडी संधि ताकि दोनों देशों के शोधार्थी संयुक्त रूप से शोध कार्यों को आगे बढ़ा सकें।

13. यह यात्रा दोनों देशों के बीच होने वाली नियमित उच्च स्तरीय आदान-प्रदान का एक हिस्सा है। ऑस्ट्रलियाई पीएम मेल्कॉम टर्नबुल 2017 में भारत की यात्रा पर थे जबकि गवर्नर जनरल सर पीटर कॉसग्रोव ने इंटरनेशनल सोलर अलायन्स की स्थापना समारोह में भाग लेने के लिए मार्च, 2018 में भारत की यात्रा की थी। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 2014 के नवम्बर में ऑस्ट्रेलिया की ऐतिहासिक यात्रा की थी।

14. किसी भारतीय राष्ट्रपति की ऑस्ट्रेलिया की इस पहली यात्रा ने द्विपक्षीय संबंधों में और बढ़ोतरी की है जो कि पिछले वर्षों के दौरान न केवल नियमित रही है बल्कि रणनीतिक सहयोग के हर क्षेत्र में और गहरी हुई है। इस यात्रा के दौरान, राष्ट्रपति ने ऑस्ट्रेलिया के नेताओं के साथ प्रांतीय स्तर पर, व्यापारिक समुदायों के बीच, विद्यार्थियों, शिक्षाविदों तथा भारतीय प्रवासियों के साथ मुलाकात की। ऑस्ट्रेलियाई नेतृत्व ने दोनों देशों के बीच बढ़ते संबंधों को लेकर अत्यधिक प्रसन्नता जताई।

ऑस्ट्रेलिया
24 नवम्बर, 2018



पेज की प्रतिक्रिया

टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code