यात्रायें यात्रायें

भारत के उपराष्ट्रपति का कोस्टा रिका व्यापार फोरम में भाषण (07 मार्च, 2019)

मार्च 07, 2019

कोस्टा रिका की उपराष्ट्रपति महामहिम श्रीमती एप्सी कैम्पबेल बर,
कोस्टा रिका की विदेश व्यापार मंत्री महामहिम श्रीमती द्याला जिमेनेज,
श्री के.जे. अल्फोंस, पर्यटन राज्य मंत्री, भारत सरकार,
श्री रवि थापर, पनामा में भारत के राजदूत और कोस्टा रिका से संबद्ध,
श्री आर.के. कश्यप, संसद सदस्य,
मेरे प्रतिनिधिमंडल के सदस्यगण,
भारत और कोस्टा रिका के व्यापार समुदायों के सदस्यगण,

बहनों और भाइयों,


मुझे भारत-कोस्टा रिका व्यापार फोरम में आप सभी के साथ यहां आकर बहुत प्रसन्नता हुई । लैटिन अमेरिका और कैरेबियाई क्षेत्र भारत की ऊर्जा और खाद्य सुरक्षा के लिए आवश्यक संसाधनों से समृद्ध हैं और उनमें प्रचुर मात्रा में खनिज संपदा उपलब्ध है। कल मैं कोस्टा रिका के राष्ट्रपति महामहिम श्री कार्लोस अल्वाराडो कुसाडा और अन्य वरिष्ठ गणमान्य व्यक्तियों से मिलूंगा। हम विभिन्न क्षेत्रों के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे, जिसमेंहम एक-दूसरे के पूरक हैं और जिन क्षेत्रोंमें हम मिलकर अपने लोगों का पारस्परिक लाभ देखते हैं।

कोस्टा रिका, एक शांतिपूर्ण और समृद्ध राष्ट्र है, जिसकी आर्थिक रूप से मजबूत है, राजनीतिक स्थिरता और लोकतांत्रिक साख है, और भारत अपने मजबूत विकास और तकनीकी कौशल के साथ राजनीतिक और वाणिज्यिक दृष्टि से महत्वपूर्ण भागीदार हो सकता है।

भारत ने विभिन्न क्षेत्रों में, विशेष रूप से उच्च इंजीनियरिंग कौशल और विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में महत्वपूर्ण प्रगति की है। 2.6 ट्रिलियन डॉलर की जीडीपी सहित, भारत आज दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है, जो हर साल 7.5% की मजबूत दर से बढ़ रही है।2008 में, भारत पहले ही प्रयास में चंद्रमा पर वाहन भेजने वाला दुनिया का चौथा देश बन गया - वह भी 60 मिलियन यूएस डॉलर की किफायती लागत पर। भारत आज उपग्रहों, हल्के लड़ाकू विमानों, मिसाइलों, कारों और अन्य प्रमुख उच्च प्रौद्योगिकी औद्योगिक उत्पादों से लेकर सब कुछ बनाता है। यद्यपि हमारी जनसंख्या1330 मिलियन से अधिक है, लेकिन हमारी विशाल मानव पूंजी एक राष्ट्रीय संपत्ति है, क्योंकि कई अन्य अर्थव्यवस्थाओं के विपरीत, भारत में पूरी दुनिया में सबसे युवा आबादी हमारे पास दुनिया में तकनीकी जनशक्ति और विशेषज्ञों की तीसरी सबसे बड़ा शक्ति भी है। इन सभी पहलुओं ने, 300-350 मिलियन व्यक्तियों के हमारे विशाल मध्यम वर्ग के बाजार के साथ मिलकर, संस्थागत आर्थिक और वित्तीय प्रक्रियाओं को स्थिर लोकतांत्रिक शासन प्रणालियों के तहत बढ़ावा दिया गया – स्वतंत्र न्यायपालिका और एक स्वतंत्र और खोजी मीडिया अंतर्राष्ट्रीय व्यापार और व्यवसाय के अद्वितीय गंतव्यजिसकीके रूप में भारत की महत्वपूर्ण समीक्षा कर रहे हैं ।

पिछले साढ़े चार वर्षों के दौरान, प्रधान मंत्री श्री मोदी के तेज-तर्रार नेतृत्व में, भारत में वैश्विक व्यापार और प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की सुविधा के लिए विभिन्न सुधार किए गए हैं।इसके परिणामस्वरूप, पिछले वर्ष के दौरान, भारत ने ‘ग्लोबल ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ देशों की सूची 77 वेंस्थान से छलांग लगाकर 23वें स्थान पर पहुंच गया है ।हर दिन अधिक से अधिक बहुराष्ट्रीय कंपनियां भारत में व्यवसाय स्थापित कर रही हैं। भारत सरकार ने ‘मेक इन इंडिया’,स्टार्ट अप इंडिया’, ‘डिजिटल इंडिया’ आदि जैसी प्राथमिक पहलों पर विशेष ध्यान केंद्रित किया हैजिनसे नई अद्वितीय उद्यमी ऊर्जाओं के लिये द्वार खुले हैं।परिणामस्वरूप, कई नए वैश्विक निगम मूलभूत संरचना, सड़क एवं परिवहन, स्वास्थ्य,दूरसंचार, बिजली, शहरी विकास, नागरिक उड्डयन, शिक्षा, आतिथ्य और पर्यटन आदि जैसे विभिन्न क्षेत्रों में संयुक्त उपक्रम स्थापित कर रहे हैं जिनमें लाखों अमेरिकी डॉलर के निवेश के अद्वितीय अवसर हैं।

विभिन्न प्रोत्साहन जैसे कर अवकाश, एकल खिड़की मंजूरी, इन्वेस्टइंडिया जैसी संस्थाओं द्वारा सुविधा, साथ ही निर्धारित करों के भुगतान के बाद मुनाफे और लाभांश की स्वतंत्रता, निवेश पर अधिक प्रतिफल और निवेश के लिए भारत को एक आकर्षक गंतव्य बनाते हैं।कोस्टा रिका की कंपनियां निवेश और लाभ के लिए आमंत्रित हैं । कोस्टा रिका के कई सीईओ और प्रभावशाली व्यवसायियों के विकसित देशों में सहायक निवेशकों और व्यापारियों से घनिष्ठ संबंध हैं और वे भारत में ऐसे संबंध बना सकते हैं।

हमारे दोनों देशों के बीच घनिष्ठ व्यापारिक संबंध हैं। भारतीय आईटी कंपनियां जैसे इंफोसिस, विप्रो, एलएंडटी इंफोटेक, डब्ल्यूएनएस और अन्य यहां मौजूद हैं और अन्य जैसे बजाज ऑटो और ग्रेविटा के भी कोस्टा रिका के साथ व्यापारिक संबंध हैं। हालांकि, पारस्परिक लाभ के लिए इस तरह के संबंधों को तेज करने की पर्याप्त गुंजाइश है।

कोस्टा रिका लैटिन अमेरिकी क्षेत्र में भारत का 13 वां अग्रणी व्यापारिक भागीदार है। 2017-18 में भारत-कोस्टा रिका द्विपक्षीय व्यापार 201 मिलियन यूएस डॉलर का था। कोस्टा रिका को 134 मिलियन यूएस डॉलर का निर्यातकिया गया था जबकि कोस्टा रिका से 67 मिलियन यूएस डॉलर का आयातकिया गया था।

हमारे आर्थिक जुड़ाव के बढ़ने की अनेक संभावनाएं हैं। कोस्टा रिका भारत-एलएसी कॉन्क्लेव में भाग लेता रहा है, जिसमें दोनों पक्षों के व्यापारियों को आपसी हित के क्षेत्रों का पता लगाने में सक्षम बनाया गया है।

हालांकि बड़ी भौगोलिक दूरी द्विपक्षीय संबंधों को गहरा करने में कुछ बाधाओं सहित पहले एक चुनौती थी, लेकिन हाल ही के दशकों में डिजिटल संचार और वैश्वीकरण से निर्बाध संपर्क संभव हो गया है जिसने दोनों देशों के बीच व्यापारिक संबंधों को बढ़ाने के लिए नए और उत्कृष्ट अवसर प्रदान किए हैं ।हम साथ मिलकर फार्मास्यूटिकल्स और जैव प्रौद्योगिकी, डिजिटल विज्ञान और दूरसंचार, कृषि और खाद्य प्रसंस्करण, अक्षय ऊर्जा, अंतरिक्ष अनुसंधान और जलवायु परिवर्तन जैसे क्षेत्रों में पारस्परिक हित की महत्वपूर्ण और नवीन तकनीकों पर काम कर सकते हैं।

भारत के विश्व स्तरीय इंजीनियर निश्चित रूप से विभिन्न उच्च प्रौद्योगिकी परियोजनाओं में अपने कोस्टा रिका के समकक्षों के साथ जुड़ सकते हैं जो कोस्टा रिका की एक नई प्रौद्योगिकी उन्नति करेंगे । यह विशेष रूप से महत्वपूर्ण है क्योंकि आने वाली शताब्दी तेजी से उन देशों से संबंधित होगी जिनके पास ज्ञान-आधारित उद्योगों में दक्षता है।

इस तरह के सहयोग को लागू करने के लिए कोस्टा रिका में पहले से पारिस्थितिकी मौजूद है। हम 2021 तक कोस्टा रिका को कार्बन-मुक्त देश बनाने की अपनी भविष्यवादी दृष्टि के लिए राष्ट्रपति श्री कुसाडा और उनकी सरकार को बधाई देते हैं। हम महत्वाकांक्षी करियर को आगे बढ़ाने के लिए कोस्टा रिका के युवाओं की उच्च दक्षता वाली शैक्षिक योग्यता हासिल करने की आकांक्षाओं की भी सराहना करते हैं। ये ऐसी विशेषताएँ हैं जिन्होंने इंटेल जैसी वैश्विक बहुराष्ट्रीय कंपनियों को अपने यहां स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित किया। यह कोस्टा रिका के उद्यमियों और इंजीनियरों की कड़ी मेहनत और उद्यम भी है जिससे कोस्टा रिका एक महत्वपूर्ण अर्थव्यवस्था और मध्य अमेरिका में एक प्रमुख सेवा क्षेत्र हब बना है। इसलिए आगे कदम बढ़ाने के लिए यह उपयुक्त समय है।

यह एक सर्वविदित तथ्य है कि पूरे मध्य और लैटिन अमेरिका में जेनेरिक, किफायती दवाओं की उपलब्धता एक तत्काल आवश्यकता है। जैसा कि आप जानते हैं भारत किफायती दवाओं के उत्पादन में अपनी अद्वितीय क्षमताओं के लिए दुनिया भर में जाना जाता है। भारतीय दवा कंपनियों में से कई के पास अमेरिकी बाजार में जेनेरिक दवा उत्पादों के निर्यात के लिए बड़ी संख्या में यूएस फूड्स और ड्रग्स एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) की मंजूरी है। कोस्टा रिका और पड़ोसी बाजारों में आवश्यक फार्मास्युटिकल उत्पादों के निर्माण और वितरण के लिए कोस्टा रिका की कुछ कंपनियां उचित भारतीय फार्मा कंपनियों के साथ संयुक्त उद्यम स्थापित करने पर विचार कर सकती हैं। भारत दुनिया का सबसे बड़ा दूध उत्पादक देश है। भारतीय निजी और सार्वजनिक क्षेत्र की डेयरी कंपनियां, जिनमें से कई डेयरी सहकारी समितियों के तहत काम कर रही हैं, ने डेयरी उत्पादों के प्रसंस्करण, विपणन और बिक्री के लिए नवीन प्रक्रियाओं का विकास किया है जो कोस्टा रिका में उपयोगी रूप से लागू की जा सकती हैं।

भारतीय कृषि-वैज्ञानिकों ने महत्वपूर्ण कृषि तकनीकों और प्रक्रियाओं जैसे कि उच्च उपज देने वाली किस्म के बीज, पार निषेचन तकनीक और ऐसे अन्य क्षेत्रों को विकसित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय पेटेंट प्राप्त किए हैं । भारत आज विश्व स्तर पर प्रतिष्ठित है क्योंकि यहां विश्वस्तरीय अस्पताल और स्वास्थ्य सुविधाएं हैं जो पश्चिम की तुलना में कम कीमत पर उपलब्ध हैं ।

हम शहरी परिवहन, रेलवे और बंदरगाह प्रबंधन में संयुक्त परियोजनाओं का पता लगा सकते हैं। कोस्टा रिका एक अंतरराष्ट्रीय पर्यटन स्थल है और इसे भारतीय यात्रियों के पर्यटन सर्किट में लाया जा सकता है। भारतीय फिल्म निर्माताओं को कोस्टा रिका में सुरम्य स्थानों पर शूट करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सकता है ताकि इससे लाखों भारतीयों का ध्यान आकर्षित हो सके ।

दोनों देशों में हमारे व्यापार, शैक्षणिक और विज्ञान और प्रौद्योगिकी समुदायों को एक दूसरे के साथ अधिक गहराई से जुड़ना चाहिए। लोगों से जितना अधिक जुड़ाव होगा, उतना ही वे बेहतर व्यापार, आर्थिक और वैज्ञानिक सहयोग के साझा लक्ष्य प्राप्त करेंगे। इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए, भारत पहले से ही कोस्टा रिका के नागरिकों को ई-वीजा की सुविधा प्रदान करता है।

मैं आज फिर से आप सभी को और विशेष रूप से कोस्टा रिका की सरकार के सभी प्रतिनिधियों को हमारे मूल्यवान विचारों के आदान-प्रदान करने में सहयोग देने के लिए धन्यवाद देता हूं ।

ध्यान देने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद।

डिस्क्लेमर: यह भाषण का तैयार किया गया पाठ है। कृपया भाषण की जाँच करें।



Page Feedback

टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code