यात्रायें यात्रायें

बेनिन गणराज्य की राष्ट्रीय सभा में राष्ट्रपति कासंबोधन

जुलाई 29, 2019

1. बेनिन-भारत संबंधों में आज एक ऐतिहासिक दिन है। मेरे लिए यह एक सम्मान की बात है कि मैं भारत की ओर से आपकेइस खूबसूरत देश का राजकीय दौरा करने वाला पहला व्यक्ति बना हूँ। ये अवसर और भी खास बन गया है क्योंकि आपने मुझे अपने लोकतंत्र के मंदिर को संबोधित करने का अनुग्रहपूर्ण आमंत्रण दिया है।

2. मैं अपने साथ 130 करोड़ भारतीयों की शुभकामनाएंलाया हूं। मैं उस गर्मजोशी और स्नेह से अभिभूत हूं जो मुझे आप लोगों से मिला है। मैं इन भावनाओं को हमारी चिरस्थायी मित्रता के प्रतीक के रूप में अपने साथ वापस ले जाऊंगा। महज भावनाओं में बह कर ऐसा नहीं कह रहा हूँ; बल्किहमारे बीच के उस गहरेजुड़ाव को बयान कर रहा हूँ जो हम साझा करते हैं। इतिहास गवाह है हमारे लोगों की उस उदासीन गाथा कि जो देश छोड़ कर चले गए और कभी वापस नहीं लौटे - अपनी इच्छा से नहीं बल्कि क्रूरता और लालच के जाल में फंस कर। भारत को अपनी कोशिशों को ऐसी दिशा में ले जाने का सौभाग्य मिला जिसके बलबूते गुलामी और गुलाम व्यापार के पीड़ितों को याद करने के लिए संयुक्त राष्ट्र में न्यूयॉर्क में एक स्थायी स्मारक स्थापित किया जा सका। हम अपनी ओर से, बंधवा मजदूर की परंपराकोविश्व में पहचाननेमेंसहायता प्रदान करने के लिए बेनिन को धन्यवाद देते हैं। मैं ओइदाह के स्मारक और उन सभी लोगों को गभीर सम्मान देता हूँजिन्होंने अमानवीयता का दंश झेला था। जैसे-जैसे हम हाथ से हाथ मिलाकर एक लोकतांत्रिक और मुक्त समाज होने के नाते प्रगति के पथ पर आगे बढ़ते जाएंगे, उनका ये बलिदान हमेशा हमें प्रेरित करता रहेगा।

3. हमारे संबंध एक साझा राजनीतिक प्रक्षेपवक्र से बंधे हैं। हम दोनों ने उपनिवेशवाद की जंज़ीरों से आजाद होने के लिए लड़ाई लड़ी है और आज अपनी लोकतांत्रिक जड़ों को गहराई तक ले जाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। इस वर्ष हम अपने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती मना रहे हैं। हम जब-जब उन्हें याद करते हैं, हमेशा अफ्रीकी लोगों का आभार मानते हैं क्योंकि उन्होंने अन्याय के खिलाफ आवाज़को बुलंद करने औरमहात्मा गाँधी के राजनीतिक विचारों को बढ़ानेमें सहायता की थी। उन्होंने इस महाद्वीप पर 21 वर्ष बिताए तब जाकर भारत को स्वतंत्र कराने के लिए अपने देश वापस लौटे थे। उनकी सीख पूरे विश्व में गूंजती है, ठीक उसी तरह जिस तरह बेनिन के गौरवान्वित पुत्र कार्डिनल बेनार्डिनगेंटिन की विरासत है।

देवियों और सज्जनों,

4. साथी लोकतंत्रों होने के नाते, भारत और बेनिन के पास साझा करने के लिए बहुत कुछ है। हम इस देश की लोकतांत्रिक जड़ों को मजबूत बनाने के प्रयासों की सराहना करते हैं। 1990 के दशक में आपने जो राजनीतिक यात्रा शुरू की थी, अब उसने एक लंबा सफर तय कर लिया है। पिछले 30 वर्षों के दौरान एक जटिल और संघर्षग्रस्त क्षेत्र में अपनीअखंड एकता बनाए रखना, एक ऐसी मिसाल है जिसका कई लोग पालन करेंगे। देश की प्रगति और समृद्धि में लोकतंत्र का महत्व सर्वोपरि है। संसदीय परंपराएं और प्रक्रियाएं हमारे लोकतंत्र को मजबूत बनाने के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हैं। मैं खुद एक सांसद रहा हूं और लोगहम पर जो विश्वास और भरोसा रखते हैं,उसे समझता हूं। इस संदर्भ में, हम उस समर्पण और अनुशासन की सराहना करते हैं जो आपकी संसद आपसे पाने की अपेक्षा करती है। मुझे बताया गया है कि अगर इस राष्ट्रीय सभा के सदस्य एक-तिहाई पूर्ण बैठकों और समिति की बैठकों में अनुपस्थित रहते हैं, तो उन्हें भारी जुर्माना चुकाना पड़ता है और साथ ही एक साल तक समिति से निलंबित भी कर दिया जाता है! जनता का फैसला, निःस्वार्थ सेवा और आप जनता को यही प्रदान कर रहे हैं।

5. मेरा ये बेनिन दौरा हमारे आम चुनावों के सफल संचालन के बाद मेरापहलाविदेश दौरा है। इस वर्ष अप्रैल-मई के महीने में भारत की सात-चरणों, 900 मिलियन मतदाताओं, छह-सप्ताह तक चलने वाला संसदीय चुनाव संचालित हुआ, और67 प्रतिशत से अधिक मतदाताओं ने मतदान किया, ये अब तक विश्व की सबसे बड़ी लोकतांत्रिक संचालन थी। लोक सभा, हमारे निम्न सदन के 543 सांसदों में से लगभग आधे सांसद पहली बार निर्वाचित हुए हैं। इससे भी अधिक महत्वपूर्ण बात ये है कि हमारे निम्न सदन के साथ 78 महिला सांसद जुड़ी हैं, जो हमारे लोकतंत्र की इतिहास में अब तक कासबसे बड़ा आंकड़ा है। ये हमारे लिए एक सेहतमंद रुझान है। आंकड़ों से परे, हमारी संसद भारत की विविधता को स्पष्ट रूप से प्रदर्शित करती है – चाहे भाषा हो, या धर्म, जाति या संस्कृति – ना केवल अपनी सदस्यता में बल्कि वाद-विवादों, चर्चाओं और विधि निर्माण में भी। ये एक ऐसा पहलु है जिसमें हमारे दोनों देश की कहानी लगभग एक जैसी है, हम दोनों ने अपनी अनेक संस्कृतियों को बढ़ावा दिया है। बेनिन में रहने वाले भारतीय समुदाय की गूँज, आपके प्रगतिशील विचारों और समायोजन का प्रमाण है। वे अपने बेनिन दोस्तों के साथ मिलकर सामंजस्यता के साथ रहे हैं, और एक-दूसरे के साथ भोजन और तौहारबांटा है।

देवियों और सज्जनों,

6. मेरी सरकार ने ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’की दृष्टि अपनाई है, जिसका अर्थ है, ‘सामूहिक प्रयास, समावेशी विकास, सभी के विश्वास के साथ’। इस आधार पर, हम एक मजबूत, समृद्ध और समावेशी भारत बनाने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। यह मंत्र सिर्फ हमारे घरेलू एजेंडे तक ही सीमित नहीं है, बल्कि उद्देश्यपूर्ण रूप से हमारे बाहरी जुड़ाव का भी मार्गदर्शन करता है। हम आपके लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए इस आधार पर और दक्षिण-दक्षिण सहयोग के सिद्धांतों के अनुसार आपके साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमें ये सम्मान मिला है कि हम बेनिन में भोजन, ऊर्जा, जल और स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करने में सहायता प्रदान करने हेतु हर संभव तरीके से अपनी विशेषज्ञता और संसाधनों को साझा करते हैं। हम जल्द ही आपके देश के 103 गांवों में 42 मिलियन अमेरिकी डॉलर की वित्त व्यवस्था के माध्यम से जल आपूर्ति योजनाओं के उन्नयन को पूरा करने की अपेक्षामें हैं। मुझे खुशी है कि भारतीय फार्मा उद्योग और अस्पताल बेनिन में लोगों को सस्ती स्वास्थ्य सेवा प्रदान कर रहे हैं। अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन के तहत हमारी साझेदारी हमें सतत रूप से लाखों घरों को प्रकाशित करने में मदद करेगी और दूरस्थ क्षेत्रों में भी लोगों को ऊर्जा की पहुंच प्रदान करेगी। हमारे विकास सहयोग को और आगे बढ़ाने के लिए, बेनिन के सतत विकास लक्ष्यों को पूरा करने में मदद के लिए, आज मैंने राष्ट्रपति टेलोन के समक्ष100 मिलियन अमेरिकी डॉलर की रियायती वित्तीय सहायता का प्रस्ताव रखा।

7. हमारे देशों में युवाओं की बड़ी आबादी है। अगर हम उन्हें प्रशिक्षित कर सकें,कुशलबना सकें और रोजगार दे सकें, तो हम जनसांख्यिकीय से बहुत बड़ा लाभांश प्राप्त कर सकते हैं। भारत में, हमने कौशल भारत मिशन शुरू किया है। हमारा लक्ष्य अगले कुछ वर्षों में 150 मिलियन युवाओं को प्रशिक्षित करना है। हमें इस देश में युवाओं के लिए अपने प्रशिक्षण कार्यक्रम बढ़ाने का विशेषाधिकार प्राप्त हुआ है - कपास की खेती की एहमियत बढ़ाने, कृषि को सतत बनाने, छोटे व्यवसायों को प्रेरित करने और डिजिटल दुनिया की शक्ति का दोहन करने के लिए। प्रौद्योगिकी अफ्रीका के देशों के साथ हमारी विकास साझेदारी के केंद्र में रही है। हमारे अखिल-अफ्रीकी ई-नेटवर्क पहल की सफलता के बाद, अब हम बेनिन के साथ ई-विद्याभारती और ई-अरोग्यभारती पहल के कार्यान्वयन के लिए तत्पर हैं। इसके तहत, हम 15,000 छात्रों को मुफ्त टेली-शिक्षा और विभिन्न अफ्रीकी देशों में 1000 डॉक्टरों और पैरामेडिक्स को मुफ्त टेली-चिकित्सा पाठ्यक्रम प्रदान कर रहे हैं। बेनिन के लोगों के कल्याण और विशेष रूप से, उनके युवाओं को सशक्त बनाने के लिए भारत को अफ्रीका के साथ अपनी डिजिटल क्रांति साझा करने की खुशी है। कुछ दिन पहले, हमने सफलतापूर्वक अपना दूसरा चन्द्रअभियान - चंद्रयान दो लॉन्च किया। हमारे अंतरिक्ष कार्यक्रम से प्राप्त वैज्ञानिक जानकारी ने हमें कई अफ्रीकी देशों में संचार, संसाधन मानचित्रण और आपदा प्रबंधन क्षमताओं को मजबूत करने की अनुमति दी है।

देवियों और सज्जनों,

8. हमारे द्विपक्षीय संबंध चिरस्थायी हैं। हमारी वैश्विक साझेदारी इसे और भी सार्थक बनाती है। हम बेनिन को अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन में हितधारक के रूप में हमसे हाथ मिलाने और जलवायु परिवर्तन के खिलाफ वैश्विक लड़ाई को सशक्त करने के लिए धन्यवाद देते हैं। इसी दृढ़ संकल्प के साथ, हमें आतंकवाद से लड़ना और उसे हराना भी जारी रखना होगा। गिनी की खाड़ी समृद्धि का क्षेत्र रही है। इसकी सुरक्षा और रक्षा हमारी निरंतर वृद्धि और साझेदारी की नींव है। इस संदर्भ में, हम दोनों नेविगेशन की स्वतंत्रता और अंतर्राष्ट्रीय कानूनों का पालन करने में विश्वास रखते हैं। हम गिनी की खाड़ी में बेनिन के समुद्री डकैती-रोधीपरिचालनों को महत्व देते हैं और आपके साथ हमारी रक्षा और सुरक्षा साझेदारी को बढ़ाने के लिए तैयार हैं। हमें वैश्विक शासन को और अधिक न्यायसंगत बनाने के लिए भी मिलकर काम करना चाहिए, और इसके लिए मजबूत बहुपक्षवाद की आवश्यकता है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में एक स्थायी सीट हासिल करने की हमारी तलाश में, हम एक विस्तारित संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में नियत अफ्रीकी प्रतिनिधित्व का भी पूरी तरह से समर्थन करते हैं।

9. वैश्विक शासन से लेकर वैश्विक विकास तक, भारत एक प्रमुख अग्रणी के रूप में उभर रहा है। हमारी 2.6 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर की जीडीपी अगले 7 साल में दोगुनी करने का लक्ष्य है। जैसे-जैसे भारत की अर्थव्यवस्था बढ़ती है, वैसे-वैसे हमारा बाहरी जुड़ाव भी बढ़ेगा। इस मैट्रिक्स में, अफ्रीकी देश हमारे विश्वसनीय साझेदार और हमारी समृद्धि में हितधारक होने के नाते एक प्रमुख भूमिका निभाते रहेंगे। दो साल पहले भारत के राष्ट्रपति का पदभार संभालने के बाद, बेनिन वह 8 वां अफ्रीकी देश जिसका दौरा मैंने किया है। मैं गाम्बिया और गिनी गणराज्य का भी दौरा करूंगा। मेरे दौरे, हमारे लिए अफ्रीका और पश्चिम अफ्रीका के गतिशील उप-क्षेत्र के महत्व को दर्शाते हैं।

10. हम बेनिन गणराज्य को तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था, एक मित्रवत साझेदार और पश्चिम अफ्रीका के लिए एक महत्वपूर्ण प्रवेश द्वार के रूप में देखते हैं। भारत आज बेनिन का एक प्रमुख व्यापारिक साझेदार है। हमारे दो तरफा व्यापार ने 2018-19 में 803 मिलियन अमेरिकी डॉलर का रिकॉर्ड दर्ज किया। हमें प्रसन्नता है कि बेनिन को भारत की निःशुल्क टैरिफ वरीयता योजना से लाभ मिला है जिससे बेनिन के निर्यात में वृद्धि हुई है। आज, हमने बेनिन को अपनी ई-वीजा सुविधा प्रदान करने की घोषणा की है। यह हमारे लोगों बीच संबंधों और व्यापार संबंधों को बढ़ावा देगा। मैं राष्ट्रपति टेलोन के नेतृत्व, व्यक्तिगत रूप से ध्यान देने और हमारे द्विपक्षीय सहयोग को समर्थन देने के लिए धन्यवाद करना चाहूँगा, साथ ही बेनिन में रहने वाले लगभग 100 भारतीयों या भारतीय स्वामित्व वाली कंपनियों को भी, जिन्होंने हमारे व्यापार और निवेश संबंधों में बहुत बड़ा योगदान दिया है।

महामहिम, देवियों और सज्जनों,

11. भारत-बेनिन की कहानी दोस्ती और आशावाद की जड़ें गहराती कहानी है। दोनों देशों का लोकतंत्र हमें एक-दूसरे के करीब लेकर आया है, एक ऐसे आलिंगन में जिसका कई लोग अनुसरण करना चाहते हैं। साथ मिलकर हमने एक जीवंत वर्तमान बुना है और एक उज्जवल भविष्य के लिए प्रतिबद्ध रहे हैं। पश्चिम अफ्रीका की एक स्थिर, बहुपक्षीय लोकतंत्र वाली एक सहिष्णु और प्रगतिशील, बहुजातीय और बहुधर्मी समाज का एकबड़ा उदाहरण बनकर उभरने पर मैं एक बार फिर आपकी सराहना करता हूं। भारत, दुनिया की सबसे बड़ी लोकतंत्र, जिसके ह्रदय में बहुलतावाद स्थित है, आपकी और आपके लोगों के लिए सफलता की कामना करता है।

मेर्सी बुकूप!
धन्यवाद

पोर्तो नोवा
जुलाई 29, 2019



टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code