यात्रायें यात्रायें

उपराष्ट्रपति द्वारा अपनी कोमोरोस की यात्रा पर प्रेस वक्तव्य

अक्तूबर 11, 2019

महामहिम, राष्ट्रपति श्री अज़ाली असौमानी
कोमोरियन और भारतीय प्रतिनिधिमंडल के सदस्य,
मीडिया के सदस्य,
देवियो और सज्जनों,
नमस्कार।


यहां मोरोनी के प्रेसिडेंशियल पैलेस में आना मेरे लिए बहुत खुशी की बात है। मैं कोमोरोस सरकार और लोगों द्वारा मेरे और मेरे प्रतिनिधिमंडल के गर्मजोशी भरे स्वागत की प्रशंसा और धन्यवाद करना चाहता हूँ ।

कोमोरोस की मेरी यात्रा हमारे दोनों देशों के बीच लंबे समय से चली आ रही मित्रता और सद्भावना का प्रमाण है।

हम दोनों देश हिंद महासागर क्षेत्र को साझा करते हैं और एक सुरक्षित, संरक्षित और समृद्ध हिंद महासागर क्षेत्र के लिए मिलकर काम करने की आशा करते हैं।

एक समुद्री पड़ोसी के रूप में, भारत कोमोरोस के लोगों के साथ अपनी प्रगति के अनुभव को साझा करने के लिए तैयार है, और हम वास्तव में कोमोरोस के एक प्रमुख विकास भागीदार बनने की इच्छा रखते हैं।

मैं राष्ट्रपति अज़ाली असौमानी की उनके नेतृत्व, और कोमोरोस में प्रगति और विकास लाने के उनके प्रयासों की सराहना करना चाहता हूं। इसमें, भारत को एक विश्वसनीय विकास भागीदार बनकर ख़ुशी होगी।

आज की हमारी बातचीत में, राष्ट्रपति अज़ाली असौमानी और मैंने ऐसी कई रोमांचक संभावनाओं की खोज की। हमने अन्य क्षेत्रों के अलावा स्वास्थ्य, नवीकरणीय ऊर्जा, सूचना प्रौद्योगिकी और समुद्री सुरक्षा में हमारे आर्थिक संबंधों के विस्तार की क्षमता पर सहमति व्यक्त की।

राष्ट्रपति अज़ाली और मैं कुछ महत्वपूर्ण समझौतों पर हस्ताक्षर करके खुश हैं। हमने रक्षा सहयोग पर एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। हमने स्वास्थ्य और संस्कृति पर महत्वपूर्ण समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं। हमने छोटी यात्राओं के लिए राजनयिक और आधिकारिक पासपोर्ट धारकों के लिए वीजा की आवश्यकता से एक-दूसरे को छूट देने का फैसला किया है । मैं आपको बताना चाहूँगा कि भारत सरकार द्वारा कोमोरियन नागरिकों को पहले से ही ई-वीजा सुविधा दी गई है।

मोरोनी में 18 मेगावाट के पावर प्लांट की स्थापना के लिए 41.6 मिलियन अमेरिकी डॉलर की ऋण व्यवस्था के रूप में सहयोग और हमारे देशों के बीच अनुदान सहायता के तहत एक व्यावसायिक प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना के प्रस्ताव आज हमारे दोनों देशों के बीच संबंधों के स्तर को बढ़ाते हैं।

मुझे यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि भारत 1 मिलियन अमरीकी डालर मूल्य की दवाइयां, 1000 मीट्रिक टन चावल, इंटरसेप्टर नावों के लिए 2 मिलियन अमरीकी डालर और परिवहन उपकरणों के लिए 1 मिलियन अमरीकी डालर का उपहार देगा। भारत ने हाई स्पीड इंटरसेप्टर नावों की खरीद के लिए 20 मिलियन अमरीकी डालर के लिए लाइन ऑफ क्रेडिट की भी घोषणा की है । टेली-एजुकेशन और टेली-मेडिसिन- ई-विद्या भारती ई-आरोग्य भारती के समझौते पर हस्ताक्षर का स्वागत करते हुए भी मुझे खुशी हो रही है।

बहुपक्षीय तौर पर, कोमोरोस और भारत में विश्व समुदाय के अधिकांश महत्वपूर्ण मुद्दों पर दृष्टिकोण की समानता है, और विभिन्न बहुपक्षीय मंचों में हमने लगातार एक-दूसरे का समर्थन किया है। जाहिर है, हमारे अतीत और वर्तमान में बहुत कुछ ऐसा है जो भारत और कोमोरोस को एक साथ बांधता है। मैं आतंकवाद के खिलाफ हमारी आम लड़ाई में कोमोरोस के समर्थन के साथ-साथ सुरक्षा परिषद में सुधारों और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में स्थायी सीट के लिए भारत की उम्मीदवारी के लिए उसके निरंतर समर्थन के लिए राष्ट्रपति अज़ाली असौमानी का धन्यवाद करता हूं।

और अंत में, मैं एक बार फिर राष्ट्रपति अज़ाली असौमानी और कोमोरोस की सरकार और लोगों का अपने सुंदर देश में मेरे और मेरे प्रतिनिधिमंडल के गर्मजोशी भरे स्वागत के लिए धन्यवाद करता हूँ । भारत सरकार अपनी क्षमताओं की सीमा के भीतर, और कोमोरोस सरकार की प्राथमिकताओं के अनुसार कोमोरोस की प्रगति और विकास के लिए हर प्रकार का समर्थन देने के लिए तैयार है।

महामहिम, 1.3 बिलियन भारतीयों की ओर से, मैं कोमोरोस के लोगों को शुभकामनाएं देता हूं।

धन्यवाद।



टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code