यात्रायें यात्रायें

उपराष्ट्रपति की राजकीय यात्रा के दौरान भारत-कोमोरोस संयुक्त वक्तव्य (10-12 अक्तूबर, 2019)

अक्तूबर 12, 2019

1. कोमोरोस सरकार के निमंत्रण पर, भारत के उपराष्ट्रपति श्री एम वेंकैया नायडू ने 10-12 अक्टूबर 2019 तक कोमोरोस की राजकीय यात्रा की, जो भारत के किसी भी उच्च राजनीतिक गणमान्य व्यक्ति द्वारा पहली बार की गई यात्रा थी। उनके साथ एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल में श्री संजीव कुमार बालियान, मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी राज्य मंत्री के अलावा वरिष्ठ सरकारी अधिकारी भी थे।

2. उपराष्ट्रपति के कोमोरोस आगमन पर उच्च स्तरीय औपचारिक स्वागत किया गया। यात्रा के दौरान उन्होंने राष्ट्रपति श्री अजाली असूमानी के साथ बैठक की और परस्पर हित के विभिन्न द्विपक्षीय और बहुपक्षीय मुद्दों पर विचार-विमर्श किया।

3. चर्चा के दौरान उपराष्ट्रपति नायडू और राष्ट्रपति अज़ली आसोमनी ने कोमोरोस और भारत के बीच पारंपरिक रूप से गहन और घनिष्ठ संबंधों पर जोर दिया। उन्होंने भारत और कोमोरोस के बीच राजनीतिक, आर्थिक, वाणिज्यिक, तकनीकी, शैक्षिक और रक्षा सहयोग को सुदृढ़ करने की पारस्परिक मंशा की पुन पुष्टि की। कोमोरोस के राष्ट्रीय विकास और आर्थिक विकास में भारतीय डायस्पोरा के योगदान की भी सराहना की गई।

4.भारत और कोमोरोस ने रक्षा संबंधों विशेष रूप से समुद्री क्षेत्र में वृद्धि और विस्तार की संभावनाओं का उल्लेख किया, ताकि हिंद महासागर क्षेत्र के सभी समुद्र तट देशों के लिए सहयोगात्मक सुरक्षा और आर्थिक विकास सुनिश्चित किया जा सके।

5.दोनों पक्षों ने नोट किया कि भारत ने स्वास्थ्य, शिक्षा, नवीकरणीय ऊर्जा, सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में विशेषज्ञता और सक्षमता प्राप्त की है और वह इन क्षेत्रों में कोमोरोस के साथ सहयोग बढ़ाने की स्थिति में है।

6. उपराष्ट्रपति नायडू और राष्ट्रपति अज़ली असूमानी ने सभी रूपों और अभिव्यक्तियों में आतंकवाद की स्पष्ट रूप से निंदा की और इस बात पर जोर दिया कि आतंकवाद के किसी भी कृत्य का कोई औचित्य नहीं है। इस संदर्भ में, दोनों पक्षों ने आतंकवाद के खतरे पर अपनी साझा चिंताओं को रेखांकित किया और आतंकवाद के विरुद्ध रोकथाम और लड़ाई के लिए अंतर्राष्ट्रीय प्रयासों के महत्व पर बल दिया। दोनों नेताओं ने इस बात पर सहमति व्यक्त की कि आतंकवादियों और उनकी गतिविधियों को आश्रय देने वाले सुरक्षित आकाश और अभयारण्यों को समाप्त करने के लिए ठोस और विश्वसनीय कदम उठाए जाने चाहिए।

7. दोनों पक्षों ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में तत्काल सुधार और सुधार प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के महत्व पर बल दिया।

8. दोनों नेताओं ने भारत और कोमोरोस के बीच निम्नलिखित समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए:

(i) रक्षा के क्षेत्र में सहयोग
(ii) स्वास्थ्य और चिकित्सा के क्षेत्र में सहयोग
(iii) राजनयिक और सरकारी पासपोर्ट धारकों के लिए वीजा की छूट
(iv) कला और संस्कृति के क्षेत्र में सहयोग
(v) विदेश कार्यालय परामर्श पर प्रोटोकॉल
(vi) ई-वीबीएबी नेटवर्क परियोजना

9. उपराष्ट्रपति ने (i) 1 मिलियन अमरीकी डालर मूल्य की दवाओं और चिकित्सा उपकरणों के उपहार (ii) 1000 मेट्रिक टन चावल के उपहार (iii) 2 मिलियन अमरीकी डालर मूल्य की इंटरसेप्टर नौकाओं के उपहार (iv) 1 मिलियन अमरीकी डालर के मूल्य के परिवहन वाहनों के उपहार की घोषणा की । भारत ने उच्च गति वाली इंटरसेप्टर नौकाओं की खरीद के लिए 20 मिलियन अमरीकी डालर लाइन ऑफ़ क्रेडिट भी दी है।

10. कोमोरोस संघ सरकार के अनुरोध पर मोरोनी में महात्मा गांधी अंतर्राष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर के निर्माण के संबंध में चर्चा की गई। भारत सरकार ने आश्वासन दिया कि भारत इस संबंध में ऋण की पेशकश सहित इस अनुरोध पर उचित ध्यान देगा। कोमोरोस संघ के विकास के मुद्दे पर भी चर्चा की गई। भारत सरकार ने कोमोरोस संघ को लाइन ऑफ़ क्रेडिट सहित हर संभव सहायता का आश्वासन दिया।

11. कोमोरियन पक्ष ने भारत को पेरिस में दिसंबर में होने वाले कोमोरोस सम्मेलन में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने अपने हवाई अड्डे के विस्तार के लिए भारतीय ऋण की मांग करने की इच्छा भी व्यक्त की।

12. उपराष्ट्रपति ने 10 अक्तूबर, 2019 को भारतीय डायस्पोरा को भी संबोधित किया और उनका संबोधन उत्साह के साथ सुना गया।

13. उपराष्ट्रपति के कार्यक्रम में कोमोरियन संसद को सम्बोधित करना भी शामिल था। कोमोरोस भी महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर डाक टिकट जारी करेगा। भारत मोरोनी में एक व्यावसायिक प्रशिक्षण केन्द्र स्थापित करेगा।

14. उपराष्ट्रपति श्री एम वेंकैया नायडू ने कोमोरोस में अपने प्रवास के दौरान उनके और उनके प्रतिनिधिमंडल के भव्य आतिथ्य के लिए राष्ट्रपति श्री अजली आसुमानी का धन्यवाद किया और उन्हें भारत आने का निमंत्रण दिया। राष्ट्रपति आसुमानी ने निमंत्रण स्वीकार कर लिया। राजनयिक माध्यमों से तारीखों को अंतिम रूप दिया जाएगा।


टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code