मीडिया सेंटर मीडिया सेंटर

प्रथम अरब-भारत ऊर्जा संगोष्ठी (8-9 जून, 2021)

जून 09, 2021

1. भारत और किंगडम ऑफ मोरक्को की सह-अध्यक्षता में अरब-भारत ऊर्जा संगोष्ठी (एआईईएफ) के पहले संस्करण का आयोजन वर्चुअल प्रारुप में 8-9 जून 2021 को किया गया। इस संगोष्ठी का आयोजन अरब-भारत सहयोग संगोष्ठी (एआईसीएफ) के कार्यकारी कार्यक्रम के तहत किया गया था और भारत के वरिष्ठ अधिकारियों तथा अरब राज्यों के संघ (एलएएस) की तीसरी बैठक का निर्णय वर्चुअली 12 जनवरी 2021 को लिया गया था।

2. संगोष्ठी के उद्घाटन सत्र को भारत के केन्द्रीय विद्युत और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार), महामहिम श्री आर. के. सिंह; मोरक्को के ऊर्जा, खनन एवं पर्यावरण मंत्री महामहिम श्री अजीज रब्बा; और एलएएस के आर्थिक मामलों के सहायक महासचिव, महामहिम श्री डॉ. कमल हसन अली ने संबोधित किया। इसके पश्चात् के पूर्ण सत्रों में ऊर्जा संक्रमण, अंतर-क्षेत्रीय बिजली व्यापार, हाइड्रोकार्बन और परमाणु ऊर्जा उत्पादन के क्षेत्र में सहयोग की संभावनाओं और चुनौतियों पर चर्चा की गई। इस चर्चा में भारत तथा एलएएस सदस्य राज्यों के सार्वजनिक व निजी क्षेत्र के संस्थानों के साथ-साथ अरब पेट्रोल निर्यातक राष्ट्र संघ (ओएपीईसी) और अरब परमाणु ऊर्जा एजेंसी (एएईए) जैसे प्रमुख क्षेत्रीय संगठनों से आये सदस्यों ने भी हिस्सा लिया।

3. संगोष्ठी के दौरान विभिन्न आर्थिक क्षेत्रों के लिए ऊर्जा दक्षता कार्यक्रमों के क्षेत्र में ज्ञान, विशेषज्ञता और अच्छी तरीकों के आदान-प्रदान, नई व नवीकरणीय ऊर्जा के त्वरित विकास, क्षेत्रीय बिजली साझाकरण व्यवस्था को बढ़ावा देने, ऑयल रिकवरी को बढ़ाने, गैस निष्कर्षण में घनिष्ठ सहयोग, और सुरक्षित परमाणु ऊर्जा उत्पादन आदि जैसे विषयों पर चर्चा हुई। इन क्षेत्रों को नियंत्रित करने वाली संबंधित राष्ट्रीय नियामक नीतियों, निवेश के अवसरों के साथ-साथ शोध एवं विकास और प्रशिक्षण में सहयोग की संभावनाओं पर भी चर्चा हुई।

4. विशेषज्ञों ने इस बात का उल्लेख किया कि भले ही भारत और कई एलएएस सदस्य राज्य स्वच्छ एवं हरित ऊर्जा अर्थव्यवस्थाओं की ओर संक्रमण करने का प्रयास कर रहे हैं, फिर भी निकट भविष्य में हाइड्रोकार्बन पर उनकी निर्भरता बनी रहेगी।

5. संगोष्ठी के अंत में, प्रतिभागियों ने दोनों मंत्रियों की उनकी सह-अध्यक्षता और संगोष्ठी के आयोजन को सफल बनाने हुए सराहना की, और साथ ही उन्होंने एलएएस के प्रधान सचिवालय को कार्यक्रम के संदर्भ में उनके उत्कृष्ट समन्वय हेतु धन्यवाद भी दिया।

6. उन्होंने साल 2023 में एआईईएफ के दूसरे संस्करण का आयोजन भारत में करने पर सहमति जाहिर की।

नई दिल्ली
जून 09, 2021
Comments
टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code