मीडिया सेंटर मीडिया सेंटर

प्रस्थान-पूर्व उन्मुखीकरण प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत 1 लाख प्रतिभागियों का प्रशिक्षण

जुलाई 28, 2021

विदेश राज्य मंत्री श्री वी. मुरलीधरन ने पूर्व-प्रस्थान उन्मुखीकरण प्रशिक्षण (पीडीओटी) कार्यक्रम के तहत एक लाख प्रतिभागियों को प्रशिक्षण प्रदान करने की उपलब्धि अवसर पर आयोजित एक विशेष कार्यक्रम को संबोधित किया। वर्चुअल प्रारुप में आयोजित इस कार्यक्रम में विदेश राज्य मंत्री ने 1,00,000वें प्रतिभागी को भागीदारी का प्रमाण-पत्र सौंपा और नया पीडीओटी पोर्टल http://pdot.mea.gov.in भी लॉन्च किया।

2. विदेश मंत्रालय ने विशेष रूप से खाड़ी देशों और अन्य ईसीआर देशों में जाने वाले भारतीय प्रवासी श्रमिकों की सॉफ्ट स्किल्स को बढ़ाने हेतु 2018 में पीडीओटी कार्यक्रम शुरू किया था। यह उन्मुखीकरण कार्यक्रम प्रवासी श्रमिकों को गंतव्य देश की संस्कृति, भाषा, परंपरा और स्थानीय नियमों व विनियमों को समझने में मदद करता है। इससे उन्हें अपने कल्याण और संरक्षण हेतु सरकार द्वारा शुरु की गई विभिन्न पहलों जैसे प्रवासी भारतीय बीमा योजना, भारतीय समुदाय कल्याण कोष, मदद पोर्टल, प्रवासी भारतीय सहायता केंद्र आदि के बारे में जानने में भी मदद मिलती है।

3. अपने संबोधन में, विदेश राज्य मंत्री ने पीडीओटी को प्रभावी ढंग से वितरित करने और इसकी पहुंच बढ़ाने हेतु विदेश मंत्रालय द्वारा की गई विभिन्न हालिया पहलों पर भी प्रकाश डाला। इसमें शामिल है:

  • देश भर में पीडीओटी केंद्रों का मौजूदा 30 से 100 से अधिक तक विस्तार और राष्ट्रीय कौशल विकास निगम और राज्य सरकारों के पूरक के रुप में सीआईआई, फिक्की , एसोचैम , इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सामान्य सेवा केंद्रों को शामिल करके हमारे भागीदारों में विविधता लाना।
  • अप्रैल 2021 से ऑनलाइन पीडीओटी प्रशिक्षण की शुरुआत। इससे दूर-दराज के क्षेत्रों तक पहुंचने और कई महिला प्रतिभागियों को आकर्षित करने में मदद मिली।
  • आगे बढ़ते हुए देश और क्षेत्र के अनुसार विशिष्ट पीडीओटी प्रशिक्षण नियमावली तैयार करना।.
  • जापान की स्पेशलाइज्ड स्किल्ड वर्कर्स (एसएसडब्ल्यू) योजना पर पीडीओटी नियमावली का विकास। जापान की एसएसडब्ल्यू योजना पर सहयोग हेतु इस साल की शुरुआत में जापान के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए थे, जिसके तहत हमारे श्रमिकों को जापान में चुनिंदा 14 क्षेत्रों में काम करने का अवसर मिलेगा। मंत्रालय प्रशिक्षण प्रदान करने हेतु इसे पीडीओटी के साथ एकीकृत करने का कार्य कर रहा है।
4. इसके अलावा, विदेश राज्य मंत्री ने इस अवसर पर संभावित प्रवासियों को पीडीओटी के लाभों के बारे में बताने और इसे समझाने हेतु प्रवासियों के संरक्षक, पीडीओटी प्रशिक्षण केंद्रों, भर्ती एजेंटों और पीडीओटी प्रतिभागियों सहित सभी हितधारकों को प्रोत्साहित भी किया। प्रतिभागियों को बधाई देते हुए, विदेश राज्य मंत्री ने उन्हें उनके कल्याण हेतु सरकार द्वारा शुरु की गई इस पहल का पूरा लाभ उठाने और संबंधित गंतव्य देशों में पहुंचने के पश्चात्, जब भी आवश्यकता हो, विदेशों में मौजूद भारतीय मिशनों के साथ संपर्क बनाए रखने के लिए कहा।

 

नई दिल्ली
जुलाई 28, 2021
Comments
टिप्पणियाँ

टिप्पणी पोस्ट करें

  • नाम *
    ई - मेल *
  • आपकी टिप्पणी लिखें *
  • सत्यापन कोड * Verification Code