प्रवासी भारतीय विभाग प्रवासी भारतीय विभाग

भारतीय मूल के बालकों के लिए छात्रवृत्ति कार्यक्रम

भारतीय मूल के बालकों के लिए छात्रवृत्ति कार्यक्रम (एसपीडीसी) शैक्षणिक वर्ष 2006-2007 में आरंभ किया गया था‍जिसका उद्देश्य प्रवासी भारतीयों के बालकों को भारत की उच्च शिक्षा सुलभ करना तथा भारत को उच्च शिक्षा के केन्द्र के रूप में प्रवर्तित करना था।

इस स्कीम के अंतर्गत, 100 पीआईओ/एनआरआई छात्रों को इंजीनियरी, प्रौद्योगिकी, मानविकी, वदान्य कला, वाणिज्य, प्रबंधन, पत्रकारिता, होटल प्रबंधन, कृषि, पशुपालन तथा किसी अन्य पाठ्यक्रम में स्नातकपूर्ण पाठ्यक्रमों के लिए प्रतिवर्ष 4,000 यूएस डॉलर की छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है।

यह स्कीम भारतीय मूल की पर्याप्त जनसंख्या रखने वाले 40 से अधिक देशों के एनआईआर/पीआईओ के लिए खुली है। विनिर्दिष्ट पात्रता मानदण्ड की पूर्ति करने वाले छात्रों के आवेदन विदेश स्थित भारतीय मिशनों/पोस्टों को भेजे जा सकते हैं। इन आवेदनों का एक चयन समि‍ति द्वारा मूल्यांकन किया जाता है तथा उम्मीदवारों का चयन किया जाता है जिसमें मानव संसाधन विकास मंत्रालय तथा एड. सिल (इंडिया), मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधीन एक स्वायत्तशासी निकाय के अधिकार शामिल होते हैं।

Scholarship Programmes for Diaspora Children
क्रम सं. शीर्षक डाउनलोड
1 2014-15 के लिए दिशा-निर्देश और आवेदन Guideline and Application form 2014-15(457 केबी)
2 2013-14 के लिए दिशा-निर्देश और आवेदन Guideline and Application form 2013-14(194 केबी)
3 एसपीडीसी - 2015 की मेरिट सूची Merit List of SPDC-2015(112 केबी)
4 एसपीडीसी - 2014 की मेरिट सूची Merit List of SPDC-2014(212 केबी)
5 2015-16 के दौरान नए बैच के लिए छात्रवृत्ति नहीं No Scholarship for fresh batch during 2015-16(406 केबी)
6 डायस्पोरा बच्चों के लिए छात्रवृत्ति कार्यक्रम डायस्पोरा बच्चों के लिए छात्रवृत्ति कार्यक्रम(90 केबी)